fbpx

सारे Piles और फ़िशर पर जादू कर रही हैं ये होमियोपैथिक दवाई, पूरी जानकारी एक जगह.

Homeopathic Medicines for piles and constipation pack

आजकल के आम जनजीवन में लाइफस्टाइल डिसऑर्डर के वजह से Piles एक आम समस्या हो गई हैं. यहां तक कि युवाओं पर भी इसका इतना गंभीर असर है कि हर एक 10 में से 4 कामकाजी युवाओं को पाइल्स की समस्या हो गई है. आज के इस अंक में हम जानेंगे पाइल्स के होम्योपैथिक उपचार के बारे में.

 आप नहीं जानते होंगे Piles के बारे में यह बातें.

बवासीर या पाइल्स एक ऐसी बीमारी है जिसमें एनस के अंदर और बाहरी हिस्से की शिराओं में सूजन आ जाती है। इसकी वजह से गुदा के अंदरूनी हिस्से में या बाहर के हिस्से में कुछ मस्से जैसे बन जाते हैं, जिनमें से कई बार खून निकलता है और दर्द भी होता है। कभी-कभी जोर लगाने पर ये मस्से बाहर की ओर आ जाते है। अगर परिवार में किसी को ऐसी समस्या रही है तो आगे की जेनरेशन में इसके पाए जाने की आशंका बनी रहती है।

पाइल्स और फिशर का फर्क जानें 

कई बार पाइल्स और फिशर में लोग कंफ्यूज हो जाते हैं। फिशर भी गुदा का ही रोग है, लेकिन इसमें गुदा में क्रैक हो जाता है। यह क्रैक छोटा सा भी हो सकता है और इतना बड़ा भी कि इससे खून आने लगता है।

कारण क्या हैं – 

कब्ज पाइल्स की सबसे बड़ी वजह होती है। कब्ज होने की वजह से कई बार मल त्याग करते समय जोर लगाना पड़ता है और इसकी वजह से पाइल्स की शिकायत हो जाती है। 

  • – ऐसे लोग जिनका काम बहुत ज्यादा देर तक खड़े रहने का होता है, उन्हें पाइल्स की समस्या हो सकती है।
  •  – मोटापा इसकी एक और अहम वजह है। 
  • – कई बार प्रेग्नेंसी के दौरान भी पाइल्स की समस्या हो सकती है। 
  • – नॉर्मल डिलिवरी के बाद भी पाइल्स की समस्या हो सकती है।

पाइल्स की चार स्टेजग्रेड 1: 

यह शुरुआती स्टेज होती है। इसमें कोई खास चीजें दिखाई नहीं देते। कई बार मरीज को पता भी नहीं चलता कि उसे पाइल्स हैं। मरीज को कोई खास दर्द महसूस नहीं होता। बस हल्की सी खारिश महसूस होती है और जोर लगाने पर कई बार हल्का खून आ जाता है। इसमें पाइल्स अंदर ही होते हैं।

ग्रेड 2: दूसरी स्टेज में मल त्याग के वक्त मस्से बाहर की ओर आने लगते हैं, लेकिन हाथ से भीतर करने पर वे अंदर चले जाते हैं। पहली स्टेज की तुलना में इसमें थोड़ा ज्यादा दर्द महसूस होता है और जोर लगाने पर खून भी आने लगता है।

ग्रेड 3 : यह स्थिति थोड़ी गंभीर हो जाती है क्योंकि इसमें मस्से बाहर की ओर ही रहते हैं। हाथ से भी इन्हें अंदर नहीं किया जा सकता है। इस स्थिति में मरीज को तेज दर्द महसूस होता है और मल त्याग के साथ खून भी ज्यादा आता है।

ग्रेड 4 : ग्रेड 3 की बिगड़ी हुई स्थिति होती है। इसमें मस्से बाहर की ओर लटके रहते हैं। जबर्दस्त दर्द और खून आने की शिकायत मरीज को होती है। इंफेक्शन के चांस बने रहते हैं।

क्या है होमियोपैथिक उपाय या दवा ?

 सबसे पहली चीज की होम्योपैथिक में किसी भी प्रकार के साइड इफेक्ट इत्यादि नहीं आएंगे और इसका परिणाम भी काफी बेहतर होता है और समझते हैं अक्सर इस में जड़ से खत्म हो जाते हैं. तमाम ऑपरेशन और अन्य उपायों के बावजूद होम्योपैथिक पाइल्स के लिए सबसे कारगर उपाय हैं.

LAXONETT DROPS:

यह ड्रॉप 20 बूँद से लेकर 30  बूंद तक आधे कप पानी में डालकर दो बार से 3 बार पीने से आपके आंतों की सफाई होगी और हर प्रकार की कॉन्स्टिपेशन खत्म होने लग जाएगी जो कि इस पूरे समस्या का मूल कारण है.  

इस ड्रॉप में Carduus marianus 2X, Chelidonium majus 2X, Cholesterinum 6X, Colocynthis 6X, Lycopodium clavatum 4X, Nux vomica 4X  शामिल होता है जो हर प्रकार से हाथों को स्वच्छ कर देता है.

PILONETT DROPS:

यह ड्रॉप 20 बूँद से 30 बूँद तक आधे कप पानी में डालकर दिन में 3 बार पीने से आपके Piles की समस्या खत्म होने लग जाएगी और 2 महीने के लगभग प्रयोग से यह बीमारी जड़ से गायब हो जाएगा. 

इस ड्राप में Acidum nitricum 6X, Aesculus hippocastanum 2X, Collinsonia 6X, Graphites 8X, Hamamelis virginica 3X, Kalium carbonicum 6X, Lycopodium clavatum 5X, Paeonia officinalis 3X, Sulphur 5X  शामिल होता है जिसके प्रयोग से पाइल्स जड़ से खत्म हो जाता है.

Arshina TAB:

यह हर तरीके से Piles  की सतह को चिकना करता है और उसे दोबारा से पुराने प्रकृति में उपचार करता है जिसके वजह से समस्या, दर्द, ब्लीडिंग इत्यादि खत्म हो जाती हैं. इसका असर दवा लेने के तीसरे दिन से ही आपको दिखने लग जाता है.

https://www.hmedkart.com/product/homeopathic-medicines-fo-piles-pack/

कुल कीमत कितनी आती है?

अगर आप इस पूरे उपचार को 1 महीने के लिए खुद पर इस्तेमाल करना चाहते हैं और इस समस्या से निजात पाना चाहते हैं तो आप इन सारे दवाइयों के एक एक यूनिट आर्डर करके अपने पास मंगा सकते हैं जिसकी कुल कीमत ₹565 आती हैं.

HMEDKART

Leave a Reply

Top